Friday, October 22, 2021
Home Quotes Sad Shayari in Hindi (DEC 2021)

Sad Shayari in Hindi (DEC 2021)

Sad Shayari in Hindi (DEC 2021)

बात करने को तरसा हूं, आवाज़ सुनने को तरसोगी!! Sad Love Shayari

मिजाज को बस तल्खियाँ ही रास आईं, हम ने कई बार मुस्कुरा कर देख लिया।

वो तेरे खत तेरी तस्वीर और सूखे फूल, उदास करती हैं मुझ को निशानियाँ तेरी।

एक नजर भी देखना गंवारा नहीं उसे, जरा सा भी एहसास हमारा नहीं उसे, वो साहिल से देखते रहे डूबना हमारा, हम भी खुद्दार थे पुकारा नहीं उसे।

उजड़ जाते हैं सर से पाँव तक वो लोग जो, किसी बेपरवाह से बे-पनाह मोहब्बत करते हैं।

ऐ खुदा लोग बनाने थे पत्थर के अगर तो मेरे एहसास को शीशे सा न बनाया होता।

जब कभी फुर्सत मिले मेरे दिल का बोझ उतार दो, मैं बहुत दिनों से उदास हूँ मुझे कोई शाम उधार दो।

मेरी कोशिश कभी कामयाब ना हो सकी, न तुझे पाने की न तुझे भुलाने की। Sad Shayari Image

अगर नींद आ जाये तो, सो भी लिया करो, रातों को जागने से, मोहब्बत लौटा नहीं करती।

मेरे बिना क्या अपने आप को सँवार लोगे तुम, “इश्क़” हूँ कोई ज़ेवर नहीं जो उतार दोगे तुम।

बहुत देर कर दी तूने मेरी धडकनें महसूस करने में, वो दिल नीलाम हो गया, जिसपर कभी हकुमत तेरी थी।

देखी है बेरुखी की आज हम ने इन्तेहाँ, हमपे नजर पड़ी तो वो महफ़िल से उठ गए।

कितना अजीब है लोगों का अंदाज़-ए-मोहब्बत रोज़ एक नया ज़ख्म देकर कहते हैं अपना ख्याल रखना।

जिसे खुद से ही नहीं फुरसतें, जिसे खयाल अपने कमाल का, उसे क्या खबर मेरे शौक़ की, उसे क्या पता मेरे हाल का।

यकीन था कि तुम भूल जाओगे मुझको, खुशी है कि तुम उम्मीद पर खरे उतरे।

बुला रहा है कौन मुझको उस तरफ, मेरे लिए भी क्या कोई उदास बेक़रार है।

कुछ तो सोचा होगा कायनात ने तेरे-मेरे रिश्ते पर, वरना इतनी बड़ी दुनिया में तुझसे ही बात क्यों होती!!

लोग पूछते हैं क्यों सुर्ख हैं तुम्हारी आँखे, हंस के कह देता हूँ रात सो ना सका, लाख चाहूं मगर ये कह ना सकूँ, रात रोने की हसरत थी रो ना सका।

चलो अब जाने भी दो क्या करोगे दास्ताँ सुनकर, ख़ामोशी तुम समझोगे नहीं और बयाँ हमसे होगा नहीं।

ये मेरी महोब्बत और उसकी नफरत का मामला है, ऐ मेरे नसीब तू बीच में दखल-अंदाज़ी मत कर।

हाथ पकड़ कर रोक लेते अगर, तुझ पर ज़रा भी जोर होता मेरा, ना रोते हम यूँ तेरे लिए.. अगर हमारी जिंदगी में तेरे सिवा कोई ओर होता..

ऐ मोहब्बत तू शर्म से डूब मर, तू एक शख्स को मेरा ना कर सकी। Sad Shayari in Hindi

कांच के दिल थे जिनके उनके दिल टूट गए, हमारा दिल था मोम का पिघलता ही चला गया।

मुझसे खुशनसीब हैं मेरे लिखे ये लफ्ज, जिनको कुछ देर तक पढ़ेगी निगाहे तेरी।

मुद्दत के बाद आज उसे देख कर ‘मुनीर’, इक बार दिल तो धड़का मगर फिर सँभल गया।

जब मिलो किसी से तो जरा दूर का रिश्ता रखना, बहुत तङपाते है अक्सर सीने से लगाने वाले।

हमने तुम्हें उस दिन से और भी ज़्यादा चाहा है, जबसे मालूम हुआ तुम हमारे होना नही चाहते।

ये इश्क मोहब्बत की, रिवायतें भी अजीब है.. पाया नहीं है जिसको उसे खोना भी नहीं चाहते!

तड़प के देखो किसी की चाहत में, तो पता चले कि इंतजार क्या होता है, यूं ही मिल जाए अगर कोई बिना तड़पे, तो कैसे पता चले कि… प्यार क्या होता है

शिकायतों की पूरी किताब तुम्हें सुनानी है, फुर्सत में अगली जिंदगी सिर्फ मेरे लिए लेकर आना!

तू पास नहीं तो क्या हुआ मोहब्बत तो हम तेरी दूरियों से भी करते हैं…

कुछ हार गई तकदीर कुछ टूट गये सपने, कुछ गैरों ने किया बरबाद कुछ भूल गये अपने।

दिल को बुझाने का बहाना कोई दरकार तो था, दुःख तो ये है तेरे दामन ने हवायें दी हैं।

जिसके नसीब मे हों ज़माने की ठोकरें, उस बदनसीब से ना सहारों की बात कर।

महफिल लगी थी बद-दुआओं की, हमने भी दिल से कहा, उसे इश्क़ हो, उसे इश्क़ हो, उसे इश्क़ हो…

बेवक्त बेवजह बेसबब सी बेरुखी तेरी, फिर भी बेइंतहा तुझे चाहने की बेबसी मेरी।

काश वो समझते इस दिल की तड़प को, तो हमें यूँ रुसवा न किया जाता, यह बेरुखी भी उनकी मंज़ूर थी हमें, बस एक बार हमें समझ तो लिया होता।

तुम तो डर गये हमारी एक ही कसम से, हमे तो तुम्हारी कसम देकर हजारो ने लूटा है।

खबर मरने की जन आये, तो यह न समझना हम दगाबाज थे, किस्मत ने गम इतने दिए, बस ज़रा से परेशान थे।

फायदा बहुत गिरी हुई चीज है, लोग उठाते ही रहते हैं..

बहुत अंदर तक बसा था वो शख़्स मेरे, उसे भूलने के लिए बड़ा वक़्त चाहिए।

सुनो कोई टूट रहा है तुम्हे एहसास दिलाते दिलाते, सीख भी जाओ किसी की चाहत की कदर करना।

काश ये सिलसिला हो जाए, मैं मिट जाऊं या फासला घट जाए!!

छुप के तेरी तस्वीरें देखता हूँ, बेशक तू ख़ूबसूरत आज भी है, पर चेहरे पर वो मुस्कान नहीं, जो मैं लाया करता था।

न करवटे थी न बेचैनियाँ थी, क्या गजब की नीँद थी मोहब्बत से पहले।

अजीब सा दर्द है इन दिनों यारों, न बताऊं तो ‘कायर’, बताऊँ तो ‘शायर’।

वह मेरा सब कुछ है पर मुक़द्दर नहीं, काश वो मेरा कुछ न होता पर मुक़द्दर होता।

मेरी आँखों को सुर्ख़ देख कर कहते हैं लोग, लगता है..तेरा प्यार तुझे आज़माता बहुत है।

सोचता रहा ये रातभर करवट बदल बदल कर, जानें वो क्यों बदल गया, मुझको इतना बदल कर।

चाहा था मुक्कमल हो मेरे गम की कहानी, मैं लिख ना सका कुछ भी तेरे नाम से आगे।

बिन बात के ही रूठने की आदत है, किसी अपने का साथ पाने की चाहत है, आप खुश रहें, मेरा क्या है मैं तो आईना हूँ, मुझे तो टूटने की आदत है।

मेरी जगह कोई और हो तो चीख उठे, मैं अपने आप से इतने सवाल करता हूँ।

ना जाने किस बात पे वो नाराज हैं हमसे, ख्वाबों मे भी मिलता हूँ तो बात नही करती।

तुम्हारे बाद न तकमील हो सकी अपनी, तुम्हारे बाद अधूरे तमाम ख्वाब लगे।

इश्क का धंधा ही बंद कर दिया साहेब, मुनाफे में जेब जले, और घाटे में दिल।

टूटा दिल और धड़कन को एहसास ना हुआ। पास होकर भी वो दिल के पास न रहा। जब दूर थी तो,जान थी मेरी। आज जब हम क़रीब आये तो वो एहसास ना रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

[50+] Dua Shayari in Hindi (OCT 2021) | दुआ शायरी | Pray Shayari

Dua Shayari in Hindi (OCT 2021) | दुआ शायरी | Pray Shayariछोड़ दिया जो जमाना हमने, किसी से इश्क़ जाताना हमने,इश्क़ में बदमास...

[50+] I Miss You Shayari in Hindi with Image (OCT 2021) | आई मिस यू शायरी

I Miss You Shayari in Hindi with Image (OCT 2021) | आई मिस यू शायरीछोड़ दिया जो जमाना हमने, किसी से इश्क़ जाताना...

[50+] Dil Shayari in Hindi (OCT 2021) | दिल शायरी | Shayari on Heart

Dil Shayari in Hindi (OCT 2021) | दिल शायरी | Shayari on Heartछोड़ दिया जो जमाना हमने, किसी से इश्क़ जाताना हमने,इश्क़ में...

[50+] Gam Bhari Shayari in Hindi (OCT 2021) | गम भरी शायरी | Gam Shayari

Gam Bhari Shayari in Hindi (OCT 2021) | गम भरी शायरी | Gam Shayariछोड़ दिया जो जमाना हमने, किसी से इश्क़ जाताना हमने,इश्क़...

Recent Comments