Tuesday, October 19, 2021
Home Quotes Love Shayari in Hindi (DEC 2021)

Love Shayari in Hindi (DEC 2021)

Love Shayari in Hindi (DEC 2021)

ये भी एक तमाशा है इश्क़-इ-मोहब्बत में, दिल किसी और का होता है और बस किसी और का !!

तूने छुआ मेरी रूह को, कुछ इस तरह, कि सदियों तक वो तेरी ग़ुलाम बन गई

बख्सा है हमको हुस्न तुम्हारी निगाह ने, तुम लेके आये हमे हद इ गुरूर तक

खुदा महफूज रखें आपको तीनों बलाओं से.. वकीलों से, हक़ीमों से, हसीनो की निगाहो से

उसने पुछा के सबसे ज्यादा क्या पसन्द है तुम्हे, हम बहुत देर तक उसे देखते रहे के शायद वो समझ जाये !!

मुझको तो होश नहीं तुमको खबर हो शायद, लोग कहते है की तुमने मुझे बर्बाद कर दिया !!

मेरी रूह को छू लेने के लिए बस कुछ लब्ज ही काफी है, कह दो बस इतना ही के तेरे साथ जीना अभी बाकि है !!

अजीब का प्यार था उसकी उदास आँखों में, महसूस तक न हुआ की मुलाकात आखरी है

मेरा बस चले तो तेरी अदायेँ खरीद लूं, अपने जीने के वास्ते तेरी वफायेँ खरीद लूं! कर सके जो हर वक्त दीदार तेरा, सब कुछ लुटा के वो निगाहेँ खरीद लूं !!

सबसे यूं मिलना के जैसे दिल में कोई दुख न हो, मुझमे ये खूबी है सब खामियों के बावजूद !!

तुम्हारी बात लम्बी है दलीलें है बहाने हैं, हमारी बात इतनी है हमारी जिंदगी हो तुम

मसरूफियत में आती है बेहद तुम्हारी याद, फुर्सत में तेरी याद से फुरसत नहीं मिलती

पता नही ये बादल क्यूँ भटक रहे हैं फ़िज़ा में दर-बदर, शायद इनसे भी बात नहीं करता, इनका अपना कोई !!

सुर्ख फूलों से महक उठती हैं दिल की राहें, दिन ढले यूँ तेरी आवाज़ बुलाती है हमें! जिन्दगी जब भी तेरी बज़्म में लाती है हमें, ये ज़मीं चाँद से बेहतर नज़र आती है हमें !!

किसी मासूम लम्हे में किसी मासूम चेहरे से, मोहब्बत की नहीं जाती, मोहब्बत हो जाती है !!

बातें हज़ारों से महफ़िल में होती है, इशारे बस दिलबर को किये जाते हैं !!

इस प्यार का किस्सा क्या लिखना, एक बैठक थी बर्खास्त हुयी

चेहरा हसीन गुलाबो से मिलता जुलता है, नशा पीने से ज्यादा तुमको देखने से चढ़ता है !!

रख मेरे हाथ पे अपने हाथ का भरोसा, के अबके बिछड़े तो मौत आ जाये !!

बहुत देर से कोई हिचकी नहीं आई, भूलने वालों की खुदा खैर करे !!

कुछ इस अदा से सुनाना हल इ दिल हमारा उसे, वो खुद हे कह दे किसी को भूल जाना बुरी बात है !!

ये माना न खुल सका, कौन हूँ, किस से प्यार करता हूँ

खैरात में मिली ख़ुशी हमें अच्छी नहीं लगती, हम अपने दुखों में रहते हैं नवाबों की तरहं !!

प्यार से देख लो यू ही मर जायेंगे, हर सितम आजमाना जरूरी नहीं

तुम्हारा नाम आया और हम तकने लगे रास्ते, तुम्हारी याद आई और खिडकी खोल दी हमने

तुम्हारी याद मेरे साथ साथ चलती रहे, तेरे ख्याल के रंगों के दायरों में रहे

नहीं लिखते हथेलियों पर अब तुम्हारा नाम, कारोबार में सबसे हाथ मिलाना पडता है

मुझ में बेइंतेहा मोहब्बत के सिवा कुछ भी नहीं है, तुम अगर चाहो तो मेरी सांसों की तलासी ले लो !!

तुम्हारी याद मे जीने की आरजू है अभी, कुछ अपना हाल सभालू अगर इजाजत हो

हर वक्त फिजाओं में महसूस करोगे तुम, मैं प्यार की खशबू हूँ महकूँगी जमाने तक

खूबियों से ही नही होती मोहब्बत सदा, किसी की कमियों से भी कभी प्यार हो जाता है।

तेरी वफ़ा के तक़ाज़े बदल गए वरना, मुझे तो आज भी तुमसे अज़ीज़ कोई नहीं हैं !!

उसकी वो जाने उसके पास वफ़ा था या न था, तुम फ़राज़ अपनी तरफ से तो निभाते जाते !!

किसी न किसी को किसी पर एतवार हो जाता है, एक अजनबी सा चेहरा ही यार हो जाता है!

मुझे ये दिल की ‪‎बीमारी‬ ना होती अगर तू इतनी ‪प्यारी‬ ना होती !!

मोहब्बत मिली तो नींद भी अपनी न रही फराज, गुमनाम ज़िन्दगी थी तो कितना सुकून था !!

दिल मैं तुम्हारी अपनी कमी छोड जायेंगे, आँखों में इंतजार की लकीर छोड जायेंगे

मुलाक़ात हो आपसे, कुछ इस तरह हमारी….. सारी उम्र बस एक, मुलाक़ात में गुज़ार लूँ!!

सारी दुनियां के रूठ जाने से मुझे कोई गर्ज़ नहीं, बस एक तेरा खामोश रहना मुझे तकलीफ देता हैं !!

तेरा प्यार पहन कर पूरी हूँ, नहीं करना हार श्रृंगार पिया

तुम्हारे प्यार का मौसम, हर मौसम से प्यारा है

मुस्कुराने की आदत भी कितनी महेंगी पड़ी हमको, भुला दिया ये कहकर की तुम तो अकेले भी खुश रह लेते हो !

हथेलियो‬ पर ‪मेहदी‬ का जोर ना डालिये, दब‬ के मर जाएगी ‪लकीरे‬ मेरे नाम की

हुई जो तेरे होंठो की तलब, हमने खिलता हुआ गुलाब चूम लिया !!

अजब पहेलियां है हाथों की लकीरों में, सफर ही सफर लिखा है हमसफर कोई नहीं !!

अकेला वारिस हूँ उसकी तमाम नफरतों का, जो शख्स सारे शहर में प्यार बाटंता है !!

याद रखो किसी भी हवाले से, हर हवाले से हम तुम्हारे हैं !!

आग लगी दिल में जब वो खफ़ा हुए, एहसास हुआ तब, जब वो जुदा हुए! करके वफ़ा वो हमे कुछ दे न सके, लेकिन दे गये बहुत कुछ जब वो वेबफा हुए।

तुम्हारे बाद भला जिंदगी कहाँ जीते, तुम्हारे बाद तो साया भी हमसफर न था

एहसास-ए-मुहब्बत के लिए बसइतना ही काफी है, तेरे बगैर भी हम, तेरे ही रहते हैं !!

मेरे खामोश रहने पे कोई इलज़ाम न देना, समंदर तो समंदर हैं… कभी बोला नहीं करते !!

हर किसी को प्यार से देखते हो, इस से बडी दुश्मनी किआ होगी

बेवफा से वफा कर के गुजरी है जिंदगी, मैं बरस रहा हूँ तेज बारिश की तरह

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

[50+] Hurt Shayari in Hindi with Images (OCT 2021)

you someone Injured have done? we have brought best heart shayari in hindi Read and share your feelings on Whatsapp, Facebook and...

[100+] Friendship Shayari in Hindi (SEP 2021)

क्या आप Friendship Shayari ढूंड रहे है? पढ़िए Best Friendship Shayari in Hindi और शेयर करिए Whatsapp, Facebook और Instagram पर दोस्तों के...

[50+] Dil Shayari in Hindi (SEP 2021) | दिल शायरी

we have brought Dil Shayari read and share in Best Dil Shayari in Hindi with BF, Husband, Wife or GF on Facebook, Whatsapp...

Recent Comments