Friday, October 22, 2021
Home Quotes Heart Touching Shayari in Hindi (MAY 2021)

[100+] Heart Touching Shayari in Hindi (MAY 2021)

[100+] Heart Touching Shayari in Hindi (MAY 2021)

सुबह याद आते हो शाम याद आते हो कुछ हद ही कर रखे हो,
अब तो आईना हम देखते हैं और नजर तुम आते हो..!!

हर जुर्म पे उठती हैं उंगलियां मेरी तरफ,
क्या मेरे सिवा शहर में मासूम हैं सारे..!!

ख्याल रखना अपना कभी हमारा ख्याल आए तो,
उस वक्त हम नही होंगे वहां तुम्हे सहारा देने के लिए..!!

गुज़र गया वो वक़्त जब तेरी हसरत थी मुझको,
अब तू खुदा भी बन जाए तो तेरा सजदा न करू..!!

मेरी आंखों को देख कर एक शख्श बोला कि,
तेरी खामोशी बताती है तुझे कभी हँसने का शौक था..!!

कोई नहीं मिला इस दुनिया में तेरे जैसा,
फिर तुम्हें ये यकीन क्यूँ नहीं होता कि मैं सिर्फ तेरा हूँ..!!

तेरी हालत से लगता है तेरा अपना था कोई,
वर्ना इतनी सादगी से बर्बाद कोई गैर नहीं करता..!!

क्यों हम भरोसा करें गैरों पर,
जबकि हमें चलना है अपने ही पैरों पर..!!

हमें हमारे डूबने का डर हो भी तो क्यों होगा भला,
कश्ती तेरी दरिया तेरा लहरें तेरी और हम भी तेरे..!!

ये भी अच्छा है की सिर्फ सुनता है दिल,
अगर बोलता तो कयामत हो जाती..!!

अगर सुकुन मिलता है तुझे हम से जुदा होकर,
तो दुआ है ख़ुदा से कि तुझे कभी हम ना मिलें..!!

नादांनियां झलकती है अभी भी मेरी आदतो से,
मै खुद हैरान हूं कि मुझे इश्क हुआ कैसे..!!

हम यही सोच कर उसकी हर बात को उसकी सच मानते रहे,
की इतने खूबसूरत होठ झूठ कैसे बोलेंगे..!!

तेरी सुनहरी यादें धुप की तरह खिल उठी है,
मेरे दिल के शहर में परछाई सिर्फ़ तेरी ही तेरी है..!!

न जाने ख़त्म हुई कब हमारी आज़ादी,
ताल्लुक़ात की पाबंदियाँ निभाते हुए..!!

वो रों रों कर कहती रही मुझे नफ़रत है तुमसे,
मगर एक सवाल आज भी परेशान किये हुए है,
कि अगर नफ़रत ही थी तो वो इतना रोई क्यों..!!

हम तो जल गये उसकी मोहब्बत में मोम की तरह,
अगर फिर भी वो हमें बेवफा कहे तो उसकी वफ़ा को सलाम..!!

बूंदों का सवाब समझ सकता है,
वही जो वाकिफ़ हो भीग जाने के हुनर से..!!

तकलीफे तो हज़ारो है इस ज़माने पे लेकिन,
कोई अपना जब नजरअंदाज करता है तो बस सहा नहीं होता..!!

हम तड़पते रह गए यहाँ,
रात भर तुम तो आराम की नींद सो जाओगे..!!

ये कैसी पहचान बनाई है तुमने अपनी,
नाम तेरा आने पर भी लोग याद मुझे करते है..!!

धोखा देने के लिए शुक्रिया,
तुम ना मिलते तो दुनिया समझ में ना आती..!!

ए खुदा क्या चीज मोहब्बत तू ने बनाईं हैं,
किसी को ये मिल जाती है और कोई सहता उम्र भर की तन्हाई हैं…!!

मै पा तो लूँ जहाँ भर की खुशियाँ,
लेकिन उनसे तेरी कमी कहा पूरी होती है..!!

क्यों नाम दूं उसे बेवफा का वह तो वक्त था,
जिसे मेरी हंसी देखी नहीं गई..!!

 यूँ ही शौक़ है हमारा तो शायरी करना,
किसी की दुखती रग छू लूँ तो यारों माफ़ करना..!!

पहले चुभा बहुत अब आदत सी है,
यह दर्द पहले था अब इबादत सी है..!!

ये मोहब्बत का गणित है साहिब,
यह दो में से एक भी जाए, तो कुछ भी नहीं बचता..!!

हिसाब किताब न पूंछ ए ज़िन्दगी,
जब तूने भी सितम न गिने तो हमने भी ज़ख्म न गिने..!!

उदास कर देती है हर रोज़ ये शाम,
ऐसा लगता है जैसे भूल रहा है कोई धीरे धीरे..!!

क्या खूब मजबूरियां थी मेरी भी,
अपनी ख़ुशी को छोड़ दिया उसे खुश देखने के लिए..!!

तेरे बाद किसी को प्यार से ना देखा,
हमने हमें इश्क का शौक है आवारगी का नही..!!

खुश तो वो रहते है जो जिस्मों से मोहब्बत करते है,
रूह से मोहब्बत करने वालों को अक्सर तड़पते ही देखा है..!!

तकिये के नीचे दबाकर रखे है,
तुम्हारे ख्याल बेपनाह इश्क और बहुत सारे साल..!!

तेरे दिल तक पहुंचें मेरे लिखें हुए हर लफ्ज,
बस इसी मकसद से मेरे हाथ कलम पकड़ते है..!!

प्यार तो सब करते है,
कोई दिल से करता है तो कोई दिमाग से..!!

कोई रूठे अगर तो उसे फ़ौरन मना लो,
क्युकी जिद की जंग में अक्सर जुदाई जीत जाती हैं..!!

हज़ारो मैं मुझे सिर्फ़ एक वो शख्स चाहिये,
जो मेरी ग़ैर मौजूदगी मैं मेरी बुराई ना सुन सके..!!

आपके ज़िक्र के बिना कैसे अपनी पूरी कहानी लिखूँ,
बताइये आपको वफ़ा लिखूँ या अपनी जिन्दगानी लिखू..!!

आहिस्ता चल ए ज़िन्दगी कुछ क़र्ज़ चुकाने बाकी है,
कुछ के दर्द मिटाने बाकि है कुछ फ़र्ज़ निभाने बाकि है..!!

इन्ही पत्थरों पे चल कर अगर आ सको तो आओ,
मेरे घर के रास्ते में कोई कहकशाँ नहीं है..!!

ख़्वाब ही ख़्वाब कब तलक देखू,
अब दिल चाहता है तुझको भी इक झलक देखू..!!

कर देना माफ़ अगर दुखाया हो दिल तुम्हारा,
क्या पता कफ़न में लिपटा मिले कल ये यार तुम्हारा..!!

बिखरे अरमान भीगी पलकें और ये तन्हाई,
कहूँ कैसे कि मिला मोहब्बत में कुछ भी नहीं..!!

खुद ही आबाद खुद ही बर्बाद क्या खूब है,
कारोबार-ए-मोहब्बत..!!

कोई अगर सवाल करे तो किया कहूँ उसे,
बिछड़ने वाले कोई तो सबक बताता जा..!!

ना आवाज हुई ना तामाशा हुआ,
बड़ी खामोशी से टूट गया एक भरोसा तो तुझ पर था..!!

समेट लेता हूं खुद को बंद कमरे में,
जब भी दिल को याद तेरी आती हैं..!!

बस यही सोच कर तुझसे मोहब्बत करते हैं,
कि मेरा तो कोई नही पर तेरा तो कोई हो..!!

न देख कर ये चेहरा अब दिल खोलते हैं,
कभी कभी कुछ शीशे भी झूठ बोलते हैं..!!

दर्द लेकर उफ़ भी ना करे ये दस्तूर है,
चल ए ईश्क़ हमे तेरी ये शर्त भी मंजूर है..!!

कितने आसान लफ्जों में कह गई वो मुझसे,
सिर्फ दिल ही तोड़ा है कौन सी जान ले ली तेरी..!!

 माना की तेरे शहर में ग़रीब हमसे कम हैं,
अगर तेरी वफ़ा बिकी तो सबसे पहले ख़रीददार हम है,
तुझे खबर ना होगी अपनी कीमत की,
तुझे पाकर सबसे अमीर हम है..!!

एक सच्चा प्यार चाहें दो पल के लिए ही क्यों ना हो,
मगर जिन्दगी भर के लिए एहसास दे जाता है..!!

एक कोशिश भी नहीं की उसने मुझे रोकने की,
शायद उसे मेरे चले जाने का ही इंतज़ार था..!!

किसी को देख कर धीमें से मुश्कुरा देना,
किसी के वास्ते ये पूरी कायनात होती है..!!

मुझे भी समझा दे अपनी मज़बुरीयां इस कदर,
की भुल जाऊ मै भी तुझे उन मज़बुरीयो के खातिर..!!

 हम विश्वास भी उन लोगो पर करते है,
जिनका विश्वास दुनिया नहीं करती..!!

किस क़दर मासूम सा चेहरा था उस का,
धीरे से होंटो को चुम कर पागल कर गया मुझे..!!

अच्छी सूरत को सवरंने की जरूरत ही क्या है,
सादगी भी कयामत की अदा़ होती है..!!

किसी रोज फुरसत मिले तो आना हमारी महफिल मे,
हम शायरी नही दर्दे-इश्क सुनाते है..!!

हकीक़त कुछ और ही होती है,
हर गुमसुम इंसान पागल नहीं होता..!!

हमारे अपने हमे कभी नही रुलाते बल्कि रुलाते तो वो हैं,
जिन्हें हम अपना समझने की गलती कर लेते हैं..!!

कोई तो बात हैं तेरे दिल मे जो इतनी गहरी हैं,
कि तेरी हँसी तेरी आँखों तक नहीं पहुँचती..!!

हम तो बने ही थे तबाह होने के लिए,
तेरा छोड़ जाना तो महज़ बहाना बन गया..!!

आँख खुलते ही याद आ जाता हैं तेरा चेहरा,
दिन की ये पहली खुशी भी कमाल होती है..!!

एक दिन खुद को अपने पास बिठाया हमने,
पहले यार बनाया, फिर समझाया हमने,
ख़ुद भी आख़िरकार उन्हीं वादों से बहले,
जिनसे सारी दुनिया को बहलाया हमने..!!

गलती से भी कभी ये भूल मत करना,
बहुत जल्दी किसी को क़ुबूल मत करना..!!

तनहा की उम्र गुजरती है,
लोग तसल्लिया देते है साथ नहीं..!!

मैंने कुछ दिन खामोश रह कर देखा,
मेरा नाम तक भूल गए हैं मेरे साथ चलने वाले..!!

जो कुछ भी था सब कुछ खो चुका हूं मैं,
करके सबका भला अब बुरा बन चुका हूं मैं..!!

हुश्न और इश्क में क्या गजब की यारी है,
एक परिंदा है तो दूसरा शिकारी है..!!

इन्सान के जिस्म का सबसे खुबसूरत हिस्सा दिल होता है,
अगर वही साफ़ नहीं हैं तो चमकता चेहरा किसी काम का नहीं..!!

 मेरी ख़ामोशी से किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता,
और शिकायत में दो लफ्ज़ कह दूँ तो वो चुभ जाते है..!!

पता है मुझे तुम्हे आदत है दिल दुखाने की,
पर मेरी भी जिद्द है तुझे अपना बनाने की..!!

परखा बहुत गया है,
मुझे लेकिन समझा नहीं गया..!!

टूटी चीजों का मैं भरोसा नहीं करता मगर,
दिल तो अब भी कहता है कि तुम मेरे हो..!!

बहुत थक सा गया हुँ खुद को साबित करते करते,
मेरे तरीके गलत हो सकते है मगर मेरी मोहब्बत नहीं..!!

यकीन मानो ये मोहब्बत इतनी भी आसान नही,
हज़ारो दिल टूट जाते हैं एक दिल की हिफाज़त में..!!

क्या हो जायेगा तेरे रोने या न रोने से ऐ दिल,
जब उसे कोई फर्क ही नही पड़ता तेरे होने या न होने से..!!

वादे वफ़ा के और चाहत जिस्म की,
अगर ये मोहब्बत है तो फिर हवस किसे कहते है..!!

ना-उम्मीद सी हो रही है सब उम्मीदे,
दिल था किसी दिन तेरे सीने से लगकर जी भर के रोने का..!!

यूँ तो कोई शिकायत नहीं मेरे आज से,
मगर कभी कभी बिता हुआ कल बहुत याद आता है..!!

आज आईने के सामने खड़े होकर खुद से माफ़ी मांग ली मैंने,
सब से ज्यादा खुद का ही दिल दुखाया है दुसरो को खुश करने में..!!

लड़की से ज़्यादा मज़बूर तो एक लड़का होता है,
जो दिल टूटने के बाद भी रो नही सकता..!!

चले जाएगे चुप-चाप एक दिन तेरी दुनिया से,
प्यार की कदर करना किसे कहते है ये तुझे वक़्त सीखा देगा..!!

मोहब्बत ने इस मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है की,
आगे बढ़े तो सब खफा ओर पीछे हटे तो बेवफा..!!

मरना भी मुश्किल है जिस शख्श के वगैर,
उस शख्स ने ख्वाबों में भी आना छोड़ दिया​..!!

चले जायेंगे इस दुनिया से एक दिन फिर तुम्हे एहसास होगा की,
मेरा होना क्या था और मेरा ना होना क्या है..!!

अब ना करूँगा अपने दर्द को बयान,
जब दर्द सहना मुझको ही है तो तमाशा क्यों करना..!!

सफ़र तुम्हारे साथ बहुत छोटा था मगर,
यादगार हो गये तुम अब जिदंगी भर के लिए..!!

हमने तो एक ही शख्स पर चाहत ख़त्म कर दी,
अब मोहब्बत किसे कहते है मालूम नहीं..!!

अजीब मामला है मेरी शायरी का,
जिसके लिए लिखता हू उसे खबर ही नही..!!

प्यार ने प्यार को दूर से देखा,
प्यार ही प्यार को करीब लाया,
और प्यार भी प्यार में समा गया मगर अफ़सोस,
प्यार ही प्यार को समझ ना पाया..!!

बड़ा गजब किरदार है मोहब्बत का,
अधूरी हो सकती है मगर खत्म नहीं..!!

जीने की तमन्ना तो बहुत है पर,
कोई आता ही नहीं ज़िन्दगी में ज़िन्दगी बन कर..!!

कितनी अजीब बात है ना देखो तो हम तो ना मिल सके,
लेकिन तुम्हारी यादें और मेरे अश्क़ हमेशा मिलते रहते हैं..!!

वो दूंढ़ रहे थे मुझे भूल जाने के तरीके,
मैंने खफा होकर उनकी मुश्किल आसान कर दी..!!

आज उंगलियां उठाते हैं,
वो जिन्हें कभी हाथ उठा उठाकर मांगा था..!!

दिल ने तो उनकी हर बात को सीने से लगा लिया,
पर उन्हों ने जरा सी बात पर मुझे नजरों से गिरा दिया..!!

 ठुकराया था हमने भी बहुतो को तेरी खातिर,
तुझसे फासला भी शायद, उन की बद-दुआओ का असर हैं…!!

दुआओ को भी अजीब इश्क है मुझसे,
वो कबूल तक नहीं होती मुझसे जुदा होने के डर से..!!

लोग कहते है कि बिना मेहनत कुछ पा नहीं सकते,
ना जाने ये गम पाने के लिये कौन सी मेहनत करली मैने..!!

बहुत जुदा है औरों से मेरे दर्द की कैफियत,
ज़ख्म का कोई पता नहीं और तकलीफ की इन्तेहाँ नहीं..!!

जहा आपको लगे की आपकी जरुरत नहीं है,
वहां ख़ामोशी से खुद को अलग कर लेना चाहिए..!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

[50+] Dua Shayari in Hindi (OCT 2021) | दुआ शायरी | Pray Shayari

Dua Shayari in Hindi (OCT 2021) | दुआ शायरी | Pray Shayariछोड़ दिया जो जमाना हमने, किसी से इश्क़ जाताना हमने,इश्क़ में बदमास...

[50+] I Miss You Shayari in Hindi with Image (OCT 2021) | आई मिस यू शायरी

I Miss You Shayari in Hindi with Image (OCT 2021) | आई मिस यू शायरीछोड़ दिया जो जमाना हमने, किसी से इश्क़ जाताना...

[50+] Dil Shayari in Hindi (OCT 2021) | दिल शायरी | Shayari on Heart

Dil Shayari in Hindi (OCT 2021) | दिल शायरी | Shayari on Heartछोड़ दिया जो जमाना हमने, किसी से इश्क़ जाताना हमने,इश्क़ में...

[50+] Gam Bhari Shayari in Hindi (OCT 2021) | गम भरी शायरी | Gam Shayari

Gam Bhari Shayari in Hindi (OCT 2021) | गम भरी शायरी | Gam Shayariछोड़ दिया जो जमाना हमने, किसी से इश्क़ जाताना हमने,इश्क़...

Recent Comments